2022 में जेब होगी ढीली, 1 जनवरी से ये चीजें हो जाएंगी महंगी


 नई दिल्ली: आज साल 2021 का लास्ट डे (New Year Eve) है। कल से नए साल की शुरुआत (New year 2022) हो रही है। नए साल के शुरुआती दिनों में ही आम जनता को महंगाई का तगड़ा झटका लगने वाला है। 1 जनवरी 2022 से ही सभी की जेब पर बोझ बढ़ने वाला है। दरअसल, 2022 से कई चीजों पर टैक्स बढ़ रहा है। इसमें कपड़े व जूते चप्पल खरीदने से लेकर ऑनलाइन खाना मंगवाना आपको काफी महंगा पड़ने वाला है। 

कपड़ा और जूता होगा महंगा 

1 जनवरी से रेडीमेड गारमेंट्स पर GST की दर 5% से बढ़कर 12% हो जाएगी. इससे रेडीमेड गारमेंट्स की कीमतें बढ़ेंगी। कपड़ा व्यापारियों का कहना है कि GST में इजाफा होने से रिटेल कारोबार बुरी तरह से प्रभावित होगा। रेडीमेड के व्यापार से जुड़े व्यापारी जीएसटी में इजाफा किए जाने का विरोध कर रहे हैं. हालांकि, सरकार अपने फैसले से पीछे हटने के मूड में नहीं है। ऐसे में नए साल से रेडीमेट गारमेंट्स खरीदने के लिए ग्राहकों को अधिक पैसे चुकाने पड़ जाएंगे। इस टैक्‍स स्‍लैब में नया बदलाव 1 जनवरी, 2022 से लागू हो जाएगा।


1 जनवरी से ऐप से खाना मंगाने पर लगेगा टैक्स:-

अगर आप भी ऑनलाइन खाना ऑर्डर करते हैं तो आपको अगले महीने से ज्यादा पैसे चुकाने पड़ सकते हैं. क्योंकि नए साल में ऑनलाइन फूड डिलीवरी ऐप जोमैटो (Zomato App) और स्विगी (Swiggy App) से ऑनलाइन खाना ऑर्डर करने पर टैक्स का भी भुगतान करना होगा। बता दें कि 1 जनवरी 2022 से फूड डिलीवरी ऐप्स पर 5 प्रतिशत जीएसटी लगेगा। हालांकि, यूजर्स पर इसका कोई असर नहीं होगा क्योंकि यह स्पष्ट किया जा चुका है कि सरकार यह टैक्स ग्राहकों से नहीं, बल्कि ऐप कंपनियों से वसूलेगी। लेकिन ऐप कंपनियां किसी ने किसी तरीके से अपने टैक्स की भरपाई ग्राहकों से ही करेंगी। ऐसे में 1 जनवरी 2022 से ऐप के माध्यम से ऑनलाइन फूड ऑर्डर करना ग्राहकों के लिए कहीं न कहीं महंगा पड़ सकता है।

ATM से कैश निकालना पड़ेगा महंगा 

बैंक ग्राहक एटीएम से कैश ट्रांजेक्शन (ATM cash withdrawal limit per transaction) के लिए पहले जितना भुगतान कर रहे थे, अब उससे अधिक भुगतान करना होगा। 1 जनवरी 2022 से ग्राहकों को फ्री एटीएम ट्रांजैक्शन लिमिट पार करने पर ज्यादा भुगतान करना होगा। जून में ही भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकों को 1 जनवरी 2022 से मुफ्त मासिक सीमा से अधिक नकद और गैर-नकद एटीएम लेनदेन के लिए शुल्क बढ़ाने की अनुमति दी थी। एक्सिस बैंक ने कहा, "RBI के दिशानिर्देशों के अनुसार, एक्सिस बैंक या अन्य बैंक के एटीएम में 01-01-22 से मुफ्त सीमा से ऊपर का वित्तीय लेनदेन शुल्क ₹21 + GST होगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के नए चार्ज

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) ने घोषणा की है कि उसने 1 जनवरी, 2022 से ब्रांच में नकद निकासी और जमा पर शुल्क संशोधित किया है। नए नियम के मुताबिक, 1 जनवरी, 2022 के बाद अगर कोई IPPB का खाताधारक निर्धारित फ्री लिमिट पार होने के बाद पैसे जमा या निकालता है तो उसे अधिक चार्ज चुकाना पड़ेगा। बता दें कि इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक भारतीय डाक का एक डिवीज़न है, जिसका स्वामित्व डाक विभाग (post office) के पास है।




टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

IAF Result 2021: ग्रुप X-Y भर्ती परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों का इंतजार होगा खत्म! जानें कब आएगा रिजल्ट

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल भर्ती CISF Recruitment 2022